Meri Fasal Mera Byora Yojana 2021 | हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना | fasal.haryana.gov.in

Share

fasal.haryana.gov.in | Meri Fasal Mera Byora Registration | हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना  हरियाणा सरकार द्वारा की गई शुरू की गई   सरकारी योजना हैं आज हम इस लेख के माध्यम से  हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना से संबंधित सभी जरूरी जानकारी देने जा रहे हैं । जैसे कि Haryana Meri Fasal Mera Byora Yojana क्या है?, इसके क्या-क्या लाभ , उद्देश्य, विशेषताएं, पात्रता, आवेदन प्रक्रिया इत्यादि । तो  यदि आप हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना से संबंधित संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप  इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े ।

Meri Fasal Mera Byora Yojana

Table of Contents

Meri Fasal Mera Byora Yojana

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना का आरंभ किया गया है। इस योजना के तहत  हरियाणा के किसान अब अपनी फसल का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज करा  सकते हैं। हरियाणा मेरा फसल मेरा ब्योरा पोर्टल  की सहायता से सरकार द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदान किया गया बीमा कवर, प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल मुआवजा आदि किसानों को प्रदान किया जा सके।

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के तहत आवेदन  करने  के लिए आपको किसी भी कार्यालय के चक्कर काटने की  जरूरत  नहीं पड़ेगी। आपको   मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना की आधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा। इस पोर्टल के  सहायता  से हरियाणा के किसानों को एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा प्रमुख विवरण

योजना का नाममेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल
आरम्भ की गईमुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर द्वारा
आरम्भ तिथि5 जुलाई 2019
लाभार्थीहरियाणा के किसान
लाभफसल के उचित मूल्य की प्राप्ति
उद्देश्यकिसानो को फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य दिलाना
श्रेणीहरियाणा सरकारी योजनाए
आधिकारिक वेबसाइटfasal.haryana.gov.in

मेरा पानी मेरी विरासत योजना को मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के साथ जोड़ा जाना 

मेरा पानी मेरी विरासत योजना  की शुरुआत  सरकार द्वारा   पिछले वर्ष  किया  गई थी । इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य पानी की बचत करना है। इस योजना के  तहत  उन किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जो किसान धान की जगह किसी  वैकल्पिक फसल (जो कम पानी की खपत करती हैं) की खेती करते हैं। इस योजना के तहत  आर्थिक सहायता ₹7000 प्रति एकड़ की दर से प्रदान की जाती है।

बीते  वर्ष किसानों द्वारा 96000 एकड़ जमीन पर उन फसलों की खेती की गई थी जो कम पानी के इस्तेमाल से की जाती  है। इस योजना की सफलता को देखते हुए अब मेरा पानी मेरी विरासत योजना को  भी मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना के साथ जोड़ने का  फैसला  लिया गया है। जिससे कि किसानों को  और अधिक  लाभ पहुंचाया जा सके।

रिव्यू मीटिंग के माध्यम से दी गई जानकारी

Meri Fasal Mera Byora Yojana  को मेरा पानी मेरी विरासत योजना  से जोड़ने की  जानकारी एक रिव्यू मीटिंग के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी के द्वारा प्रदान की गई । इस रिव्यू मीटिंग में कृषि विभाग के अधिकारियों को मुख्यमंत्री जी के द्वारा यह निर्देश दिए गए हैं कि सभी किसानों तक इस योजना से संबंधित जानकारी पहुंचाई जाए। जिससे कि पानी की बचत की जा सके।

 

 

मुख्यमंत्री जी द्वारा यह भी जानकारी दी गई थी किसानों को सब्जियां, दाले, सोयाबीन, ग्वार आदि की खेती करने  वालो के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना का लाभ  उठाने  के लिए सभी किसानों को अपनी फसल से संबंधित  जानकारी मेरी फसल मेरा ब्योरा एवं मेरा पानी मेरी विरासत पोर्टल पर  देना अनिवार्य हैं ।

समय से किया जाएगा सत्यापन

किसान द्वारा फसल की जानकारी पोर्टल पर अपलोड करने के  पश्चात  संबंधित अधिकारी द्वारा जानकारी का सत्यापन किया जाएगा और  सफल सत्यापन के  बाद लाभ की राशि लाभार्थी के खाते में पहुंचा दी जाएगी। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर  जी द्वारा यह भी निर्देश दिया  गया  कि इस योजना के कार्यान्वयन के लिए लाभार्थी के सत्यापन समय से कर लिया जाए। एवं  उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि पूरे राज्य को चार जोन में बांटा जाएगा।

प्रत्येक जोन में एक सीनियर ऑफिसर की नियुक्ति की जाएगी। यह सीनियर ऑफिसर अपने जोन के किसानों को सरकार द्वारा  दी  की जाने वाली योजनाओं की जानकारी प्रदान करेंगे।  ताकि  किसान प्रत्येक योजना का लाभ प्राप्त  पहुंच सके । मेरा पानी मेरी विरासत योजना का लाभ उन किसानों को भी दिया जाएगा जिन्होंने धान सीजन के दौरान धन की खेती नहीं  की है।

मेरा फसल मेरा ब्यौरा रबी मार्केटिंग सीजन पंजीकरण

सरकार  ने  मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर गेहूं, सरसों, दलहन, सूरजमुखी, चना और जौ बेचने के इच्छुक किसानों के लिए आवेदन प्रक्रिया आरम्भ कर दी हैं   जो   किसान जो पोर्टल पर अभी तक  रजिस्ट्रेशन नहीं कर पाए थे वह जल्द से जल्द पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवा लें। अगर  किसानों द्वारा समय से रजिस्ट्रेशन नहीं करवाया गया तो वो  किसान सरकारी मंडियों में अपनी फसल नहीं बेच पाएंगे। अब तक इस  मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर 7.80 किसानों का पंजीकरण हो चुका है।

1 अप्रैल 2021 से रबी मार्केटिंग सीजन 2021–22  का  शुरुआत  हो गया है। रबी मार्केटिंग सीजन के पहले 2 दिनों में 3574 किसान  2.5 लाख क्विंटल गेहूं बेचने के लिए मंडी पहुंचे। इस गेहूं की खरीद सरकारी एजेंसियों द्वारा की गई।

फसल खरीद पर ऑनलाइन भुगतान तथा शेड्यूलिंग

वह सभी किसान जो अपनी गेहूं की  फसल को  सरकारी मंडियों  की  सहायता   से बेचना चाहता है  वो सभी किसान अब  मेरा फसल मेरा ब्योरा पोर्टल के  सहायता  से शेड्यूलिंग भी कर सकता है। शेड्यूलिंग के  द्वारा   किसान अब अपनी मर्जी से मंडी में फसल लाने की तारीख चुन  सकते   है। इसके  साथ ही   किसान संबंधित मंडी सचिव, मार्केट कमेटी या मंडी के कॉल सेंटर में संपर्क करके भी शेड्यूलिंग कर सकते है।  अगर  किसानों द्वारा फसल बेचने के बाद भी  किसानों को समय  से  भुगतान नहीं किया गया तो किसानों को 9% का ब्याज दिया जाएगा। सरकार द्वारा बिक्री के 40 घंटे से लेकर 72 घंटे के अंदर  भुगतान किया जाएगा। इस वर्ष सभी भुगतान ऑनलाइन माध्यम से करने की व्यवस्था की गई है।

इस साल हरियाणा सरकार  ने  80  लाख मैट्रिक टन गेहूं खरीदने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।  बीते  वर्ष सरकार  ने  60.3% या 74 लाख मैट्रिक टन गेहूं की खरीद की थी। इस खरीद के माध्यम से 7,80,962 किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य  पर  भुगतान किया गया था। यह न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद की लगत  14245 करोड रुपए  था।

मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पर पंजीकरण करना अनुदान प्राप्ति  के लिए अनिवार्य

11 जनवरी 2021 से हरियाणा सरकार की स्कीमों के  तहत अगर किसान कृषि यंत्रों पर अनुदान प्राप्त करना चाहते है तो उनको मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण करना  अनिवार्य है। यह जानकारी कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा  दी  गई है। सन 2020-21 में किसानों ने कृषि यंत्रों एवं मशीनों के लिए भौतिक सत्यापन करवा लिया है और वह सभी किसान जिन्होंने अब तक अपनी फसल का पंजीकरण नहीं करवाया है वह जल्द से जल्द मेरी फसल मेरा ब्योरा योजना पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवा ले। यह पंजीकरण प्रक्रिया 11 जनवरी 2021  से शुरू हो रही है।

पंजीकरण  करने के पश्चात  किसानों को कार्यालय में सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज जमा करना अनिवार्य है।  अगर  किसान कार्यालय में महत्वपूर्ण दस्तावेज नहीं जमा  करवा पाते  हैं तो उनका पंजीकरण रद्द कर  दिया  जाएगा। जिसके बाद  किसान का कोई भी दावा स्वीकार नहीं किया जाएगा।

इसी मौके पर सर्व हरियाणा ग्रामीण बैंक शाखा रावलवास खुर्द द्वारा एक कार्यक्रम आयोजित किया गया।  इस  कार्यक्रम में केवाईसी, यू पी ए सी, नेट बैंकिंग आदि के साथ  कई तरह के ऋण के बारे में जानकारी प्रदान की गई। इसी के  अलावा  सरकार द्वारा संचालित की जा रही कई सारी योजनाएं जैसे कि जन धन योजना, सुरक्षा बीमा योजना, ज्योति बीमा योजना, अटल पेंशन योजना, किसान क्रेडिट कार्ड योजना आदि के बारे में भी जानकारी भी  किसानो  को  प्रदान की गई। जिससे कि  सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं का लाभ लोगों तक पहुंच सके।   इस से  सरकार द्वारा सभी प्रकार की योजनाओं को पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है।

मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण

हरियाणा सरकार  के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री जेपी दलाल की उपस्थिति में एक बैठक  आयोजन किया गया था । जिसके  द्वारा  से यह घोषणा की गई है कि जल्द ही हरियाणा में  मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया आरंभ कर दी  जाएगी। हरियाणा के माननीय  मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल खट्टर जी द्वारा रबी खरीफ सीजन में फसल की खरीद के लिए कि जा रही व्यवस्था की जाच करने के लिए यह बैठक आयोजित की गई थी।

सरकार ने  सभी फसल से संबंधित विभागों  एवं  खरीद एजेंसियों को यह निर्देश दिए गए हैं कि वे सभी किसान जो मंडियों में अपनी फसल बेचने आए हैं वह सरलता से अपनी फसल बेच सके उन्हें अपनी फसल बेचने में किसी भी प्रकार  परेशानी का सामना ना करना पड़े।

  •  इस बैठक में यह बताया गया कि ₹1975 रुपए प्रति क्विंटल के एमएसपी पर सरकार 80 लाख मैट्रिक टन गेहूं खरीदेगी, ₹4650 प्रति क्विंटल एमएसपी पर सरकार आठ लाख मैट्रिक टन सरसों खरीदेगी, ₹5100 प्रति क्विंटल की एमएसपी पर सरकार 11 हजार मैट्रिक टन चना खरीदेगी एवं  ₹5885 प्रति क्विंटल की एमएसपी पर सरकार 17 हजार मैट्रिक टन सूरजमुखी खरीदेगी।
  •  इसके साथ ही  बैठक में यह भी बताया गया कि गेहूं की खरीद के लिए 389 मंडियों की स्थापना की जाएगी,  सरसों के लिए 71 मंडिया बनेगी, चने के लिए 11 मंडियां  एवं  सूरजमुखी के लिए 8 मंडियां स्थापित की जाएंगी।

कॉल सेंटर की स्थापना

किसानों की समस्या का हल करने के लिए   कॉल सेंटर भी बनाया जाएगा। जिसके  सहायता  से किसान अपनी समस्या दर्ज करवा सकते हैं   और उनकी  समस्या का समाधान जल्द से जल्द किया जाएगा।  बैठक में यह भी बताया गया कि एक ई खरीद के लिए  एक  सॉफ्टवेयर स्थापित किया जाएगा। भुगतान मॉड्यूल भी ई खरीद का एक हिस्सा होगा।

इसके लिए  विभिन्न  बैंकों से संपर्क किया गया है। जब भी कोई भुगतान किया जाएगा तो किसानों को एसएमएस के  द्वारा भुगतान की जानकारी  भेजी जाएगी।  अगर किसी किसानों को भुगतान के बारे में जानकारी प्राप्त करने में कोई भी परेशानी होती है तो   इसके लिए खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले विभाग द्वारा एक कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा। जिसके द्वारा भुगतान से संबंधित समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा नयी घोषणा

Meri Fasal Mera Byora Haryana के  तहत  हरियाणा सरकार हरियाणा के बाहर के किसानों के लिए धान की खरीद के लिए मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू कर दिया है। अब इस योजना के तहत  दूसरे राज्यों के किसान भी धान की फसल  हरियाणा में  बेच पाएंगे। खरीद सीजन में मंडियों में जो भी  धान पहुंचा  हैं  जिसमें से अधिकतम बिक  चुका   है।

हरियाणा सरकार  ने  हाल ही में पंजीकरण करवाने की तिथि में भी बदलाव  किया  है। अब हरियाणा सरकार द्वारा पंजीकरण की तिथि बढ़ा दी गई है। कोई भी किसान अब इस योजना के  तहत आवेदन कर सकता है और इस योजना का लाभ  प्राप्त  सकता है।

 

वर्ष 2020 हेतु किसान पंजीकरण

हरियाणा सरकार द्वारा  दिनांक 7 अप्रैल 2020   को  शाम  5:00 से मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल को पुनः पंजीकरण  के लिए  खोल दिया   है सूत्रों  की माने तो अभी तक मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल पर   राज्य के केवल 60% किसानों  ने ही अपना  पंजीकरण कराया   है जबकि 40% किसान ऐसे  हैं  जिन्होंने फसल  ई-खरीद कूपन पाने के लिए पंजीकरण नहीं कराया गया |  राज्य के उप मुख्यमंत्री ने  यह भी बताया   कि इस बार कोरोना वायरस की आपदा के  कारण   फसल खरीद की प्रक्रिया माह जून 2020 तक चलेगी  एवं  केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देश के अनुसार ही राज्य सरकार किसानों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की  जाएगी |

Meri Fasal Mera Byora Portal 2021

यह मेरी फसल मेरा ब्योरा पोर्टल कृषि और किसान कल्याण विभागों को एक मंच पर  लाया है। इसके अलावा  राजस्व, खाद्य नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता कार्य और विज्ञान और प्रौद्योगिकी के विभागों को भी इस मंच पर लाया है । इस ऑनलाइन पोर्टल की सहायता से    किसानो को बुवाई, कटाई के मौसम और मंडी से संबंधित जानकारी वास्तविक समय के अनुसार  (Providing information related to sowing, harvesting season and market on real time basis to farmers )  प्रदान की जाएगी |

Meri Fasal Mera Byora Portal के द्वारा  किसान अपनी फसलों के विवरण का ऑनलाइन पंजीकरण  करा  सकते है । आज हम हरियाणा के किसानो के लिए एक योजना लेकर आये है   हम आपको  इस  लेख  के माध्यम से योजना से जुडी सभी जानकारी प्रदान करने जा रहे है ।

Haryana Meri Fasal Mera Byora Registration

राज्य के जो भी  इच्छुक लाभार्थी मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना के  अंतर्गत  किसान पंजीकरण , फसल का  पंजीकरण   एवं  खेत का ब्यौरा दर्ज करवाने के लिए पंजीकरण करना चाहते है तो वह योजना की  आधिकारिक  वेबसाइट पर जाकर अपना  ऑनलाइन पंजीकरण  करा  सकते है । Haryana Meri Fasal Mera Byora Yojana 2021 के  अंतर्गत  बोई जाने वाली फसलों की जानकारी प्राप्त  करना  तथा विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ  किसानों को प्रदान  करना आदि   कार्य  किया जाएगा  ।

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल किसानों की बेहतरी सुनिश्चित करने काम करेगा। मेरी फसल मेरा ब्यौरा ऑनलाइन पोर्टल के  द्वारा हरियाणा के  किसानों को सरकार  द्वारा चलाई जा रही  कई योजनाओं का लाभ सीधे तौर पर  (Farmers will get the benefit of many schemes of Haryana government directly.) मिल सकेगा।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना का उद्देश्य

इस योजना का आरम्भ करने का  मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों  को  एक ही जगह पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता प्रदान करना  एवं उनकी  समस्या निवारण करना। कृषि संबंधित जानकारियाँ समय पर उपलब्ध करना | इस योजना के  द्वारा  ऑनलाइन पोर्टल पर खाद्य ,बीज ,ऋण एवं कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध करवाना | इस योजना के माध्यम से  फसल की बिजाई-कटाई का समय और मंडी संबंधित जानकारी उपलब्ध  करवाना  | प्राकृतिक आपदा-विपदा के दौरान सही समय पर सहायता  प्रदान करना हैं  |

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा 2021 के लाभ

  • इस ऑनलाइन पोर्टल के  माध्यम से  प्राकृतिक आपदाओं के कारण  हुई क्षति के कारण फसल  मुआवजा।
  • किसानों के लिए एक ही  स्थान  पर सारी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता  एवं  समस्या निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास है ।
  • इस योजना के अंतर्गत  किसानो को विभिन्न योजनाओं के तहत वित्तीय सहायता सरकार द्वारा प्रदान करना ।
  • खाद्य ,बीज ,ऋण  तथा कृषि उपकरणों की सब्सिडी समय पर उपलब्ध करवाना |
  • कृषि संबंधित जानकारियाँ समय पर उपलब्ध  करवाना |
  • फसल की बिजाई-कटाई का समय और मंडी संबंधित जानकारी उपलब्ध  करवाना  |
  • मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर  किसानो को वह सभी सरकारी सेवाओं तथा योजनाओ के बारे में   जानकारी मिलेगी जो हरियाणा सरकार  ने उनके  हित  में  जारी की है |
  • बोई जाने वाली फसलों की जानकारी प्राप्त  करना  तथा विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ पात्र किसानों को देने के लिए प्रदेश सरकार ने राज्य स्तरीय फसल ई-सूचना नामक वैब पोर्टल  शुरू  किया है।
  • कार्यरत वीएलई सभी किसानों की फसलों का उपयुक्त  ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज करवाएंगे |
  • वीएलई को इस कार्य के लिए  हरियाणा  सरकार द्वारा सीधे उसके खाते में भुगतान किया जाएगा।

Meri Fasal Mera Byora Yojana 2021 के दस्तावेज़ (पात्रता )

  • आवेदक हरियाणा का स्थायी निवासी होना  आवश्यक हैं  ।
  • आवेदक का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • पहचान पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • ज़मीन के कागज़ात
  • पासपोर्ट साइज फोटो

किसान पंजीकरण के लिए दिशा निर्देश

  • आधार कार्ड संख्या 12 अंक का होना चाहिए।
  • मोबाइल संख्या 10 अंक का होना चाहिए।
  • फसल की सम्बन्धित जानकारी  पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एस.एम.एस द्वारा भेजी जाएगी।
  • किसान निम्नलिखित दस्तावेज पंजीकरण  करते  समय अपने पास रखें
  • आधार कार्ड
  • जमीन की जानकारी के लिए नक़ल की कॉपी /फरद की कॉपी से अपना मुरब्बा संख्या खसरा संख्या देख कर भरें |
  • फसल के नाम /किस्में /बुआई का समय
  • बैंक की पासबुक की कॉपी।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना 2021 में ऑनलाइन आवेदन  किस प्रकार  करे?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी Meri Fasal Mera Byora Yojana 2021 के अंतर्गत आवेदन करना चाहते है वह नीचे दिए गए  चरणों   का पालन अवश्य करे।

  1. सर्वप्रथम,  आवेदक को योजना की Official Website पर जाना होगा ।  आधिकारिक वेबसाइट  पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा ।
    fasal.haryana.gov.in
  2. इस होम पेज पर आने के पश्चात  आपको पंजीकरण (क्लिक करे) का  विकल्प  दिखाई देगा ।
  3. आपको इस विकल्प  पर क्लिक करना होगा ।  विकल्प  पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा । इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर  दर्ज करना  होगा।  फिर  बाद जारी रखे के बटन पर क्लिक करना होगा।
    meri fasal mera byora registration
  4.  अब   आपसे  कुछ जानकारी पूछी जाएगी आपको  डिटेल्स में   अपना मोबाइल नंबर ,आधार नंबर ,परिवार आईडी में से कोई भी एक जो भी आपके पास उपलब्ध हो खली बॉक्स में भरनी होगी
  5.  और  सर्च के बटन पर क्लिक करना होगा क्लिक करने के  पश्चात  आपके मोबाइल नंबर पर OTP आएगा  आपको उस  OTP को आपको आगे के पेज पर भरना होगा ।  अब  आपके सामने पंजीकरण का फॉर्म खुल जायेगा ।
  6.  फिर  पंजीकरण फॉर्म में आपके सामने चार चरण आएंगे जिसमे  प्रथम  चरण किसान पंजीकरण का होगा । इस फॉर्म में आपको अपने आप से जुडी सभी जानकारी भरनी होगी |
  7.  इसके बाद  आपके सामने दूसरा चरण आएगा फसल का विवरण।   इससमे आपको अपनी फसल से  सम्बंधित  जानकारी भरनी होगी ।
  8. फिर तीसरा चरण बैंक विवरण आएगा जिसमे आपको अपने बैंक अकाउंट से जुडी सभी जानकारी  दर्ज करनी  होगी । अतः  अंतिम और चौथा चरण मंडी /आढ़ती का विवरण की जानकारी  दर्ज करनी  होगी ।
  9. सभी जानकारी सफलता पूर्वक  भरने के  पश्चात आपको आखिर में सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा ।इस  प्रकार से  आपका पंजीकरण पूरा हो जायेगा ।

मंडी सचिव लोगिन करने की प्रक्रिया

  1. सबसे पहले , आपको मेरी फसल, मेरा ब्यौरा, हरियाणा की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  2. इसके बाद  आपके सामने वेबसाइट का  होम पेज खुलकर आएगा।
  3. होम पेज पर आने के पश्चात  आपको मंडी सचिव लॉगिन करें के लिंक पर क्लिक करना होगा।
    fasal haryana
  4.  फिर  आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिसमें आपको अपना जिला तथा मंडी केंद्र चुनना होगा।
  5. इसके बाद  आपको अपनी मोबाइल  नंबर  दर्ज करना  होगा ।
  6.  अब  आपको दर्ज करें के बटन पर क्लिक करना होगा।
  7. इस  प्रकार से  आप लोग इन कर पाएंगे।

आवेदन फॉर्म को प्रिंट कैसे करे ?

राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी  जो अपना आवेदन कर चुकी हैं एवं  आवेदन फॉर्म को प्रिंट करना चाहते है तो वह नीचे दिए गए चरणों का पालन करे

  1. सर्वप्रथम, आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा।  आधिकारिक  वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा।
  2. इस होम पेज पर आने के पश्चात  आपको पंजीकरण करे का लिंक दिखाई देगा आपको लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक  करते के साथ ही  आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  3. अब  इस  पेज पर आपको ऊपर Print Form का विकल्प दिखाई देगा आपको इस  विकल्प  पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के पश्चात आपके सामने कंप्यूटर स्क्रीन पर अगला पेज खुल जायेगा।
    meri fasal mera byora portal
  4.  इस पेज पर आपको पूछी गई  सभी जानकारी जैसे नाम ,मोबाइल नंबर , बैंक खाता संख्या आदि भरनी होगी। सभी जानकारी भरने के  पश्चात  आपको प्रिंट करे के बटन पर क्लिक करना होगा।
  5.  अब आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुल जायेगा आप चाहे तो  यहाँ से आप अपना  आवेदन फॉर्म प्रिंट कर सकते है।

सीमांत किसान पंजीकरण (केवल धान के लिए)

  1. सर्वप्रथम,  आपको योजना की  आधिकारिक  वेबसाइट पर जाना होगा।   अब  आपके सामने वेबसाइट का  होम पेज खुल जायेगा।
  2. इस होम पेज पर आने के पश्चात  आपको सीमांत किसान पंजीकरण (केवल धान के लिए) का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  3.  अब इस पेज पर आपको मोबाइल नंबर  दर्ज करना होगा। कैप्चा कोड आदि भरना होगा।  फिर जारी रखे के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने एप्लीकेशन फॉर्म खुल जायेगा।
  4. और अब आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी  गई  सभी जानकारी  दर्ज करनी  होगी। सभी जानकारी भरने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना होगा।

मंडी में फसल लाने का अनुमादित सप्ताह का चुनाव करना   ?

  1. सर्वप्रथम, आपको योजना की  आधिकारिक  वेबसाइट पर जाना होगा।  अब आपके सामने वेबसाइट होम पेज खुल जायेगा।
  2. इस होम पेज पर आने के पश्चात  आपको मंडी में फसल लाने का अनुमादित सप्ताह चुने का विकल्प दिखाई देगा आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक  करते के साथ ही आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  3. इस पेज प आने के बाद  किसानो को अपना मोबाइल नंबर  दर्ज करना  होगा। मोबाइल नंबर भरने के बाद आपको कैप्चा कोड भरकर जारी रखे के बटन पर क्लिक करना होगा।
  4.  यह सब प्रक्रिया करने  बाद मंडी में फसल लाने का अनुमादित सप्ताह आ जायेगा आप फिर चुन सकते है।

मंडी वार गेट पास सूची कैसे देखे ?

  1. सर्वप्रथम,  आपको योजना की  आधिकारिक  वेबसाइट पर जाना होगा।  अब  आपके सामने वेबसाइट होम पेज खुल जायेगा।
  2. इस होम पेज पर आने के पश्चात  आपको मंडी वार गेट पास सूची का लिंक दिखाई देगा। आपको इस लिंक पर क्लिक करना होगा। लिंक पर क्लिक करते  ही  आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  3. इस पेज पर आने के बाद  आपको पूछी  गई  सभी जानकारी जैसे डिस्ट्रिक्ट ,क्रॉप ,मंडी , डेट आदि का चयन करना होगा। सभी जानकारी भरने के बाद आपको व्यू लिस्ट के बटन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद आपके सामने मंडी वार गेट पास सूची खुलकर आ जाएगी।

बैंक का विवरण कैसे बदले ?

  1. सबसे पहले, आपको योजना की  आधकारिक  वेबसाइट पर जाना होगा।  अब आपके सामने वेबसाइट  होम पेज खुल जायेगा।
  2. इस होम पेज पर आने के पश्चात  आपको बैंक का विवरण बदले का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  3.  इसके बाद इस पेज पर आपको अपना मोबाइल नंबर  दर्ज करना  होगा और फिर कैप्चा कोड डालना होगा। फिर जारी रखे के बटन पर क्लिक करना होगा। बटन पर क्लिक करने के पश्चात  आप अपने बैंक का विवरण बदल सकते है।

गेट पास की तिथि बदलें ?

  1. सर्वप्रथम,  आपको योजना की  आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।  अब आपके सामनेवेबसाइट  होम पेज खुल जायेगा।
  2. इस होम पेज पर  आने के  पश्चात  आपको गेट पास की तिथि बदलें का विकल्प दिखाई देगा। आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक  करते के साथ ही  आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा।
  3.  अब आपको इस पेज पर   अपना मोबाइल नंबर भरना होगा और फिर कैप्चा कोड डालना होगा।  फिर  जारी रखे के बटन पर क्लिक करना होगा। बटन पर क्लिक करने के पश्चात  आप गेट पास की तिथि बदलसकते है।

Contact (Helpline)

हरियाणा सरकार  ने  राज्य के किसानो के लिए हेल्पलाइन नंबर भी शुरू किया है राज्य के किसानो इस हेल्पलाइन नंबर की  मदद  से योजना से जुडी सभी जानकारी प्राप्त कर सकते है और अगर किसान को  कोई परेशानी है तो उन्हें भी दूर कर सकते है यह एक टोल फ्री नंबर है |

  • Helpline Number – 18001802060
  • Toll-Free Number – 18001802117
  • ईमेल ID  – [email protected] 

Related Posts –

 

FAQ 

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल की शुरुआत किसने की थी?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल की शुरुआत हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 5 जुलाई 2019 की थी।

इस पोर्टल की शुरुआत का उद्देश्य क्या है?

इस पोर्टल का मुख्य उद्देश्य किसानो की फसलों की सही कीमत दिलाना, किसानो को फसलों की उपज में वृद्धि के लिए आवश्यक सहयोग प्रदान करना,एवं किसानो को बिचौलियों मुक्त करना हैं

फसल पंजीकरण कैसे करें?

देश के जो इच्छुक नागरिक अपनी फसल को ऑनलाइन बेचना चाहते है तो वह घर बैठे इंटरनेट के सहायता से e naam पोर्टल पर जाकर ऑनलाइन बेच सकते है । अब अलग-अलग किसान ई-एनएएम पोर्टल पर enam.gov.in पर किसान पंजीकरण के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन कैसे चेक करें?

Fasal haryana portal पर मंडियों के गेट पास की List भी अब मेरी फसल मेरा ब्यौरा वेबसाइट के सहायता से चेक कर सकते है। इसके लिए आपको गेट वार पास सूचि का चयन करना होगा एवं अगले पेज पर डिस्ट्रिक्ट ,Crop (फसल),मंडी,MM /PC और डेट का चयन करना होगा।

Share

Leave a Comment