UP Dhan Registration 2021 | यूपी धान बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण ( Dhan Panjikaran )

Share

UP Dhan Registration : UP Dhan Panjikaran योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के माननीय  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा गयी है। अब किसानों को धान को  बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवाना जरुरी  होगा। इसके लिए उन्हें इस योजना के   तहत पंजीकरण करने के लिए खाद्य एवं रसद विभाग के   आधिकारिक पोर्टल  पर जाना होगा। इस पोर्टल के   मदद से आवेदन करने के  बाद सभी किसान अपनी धान की फसल सरकार को आसानी से बेच  सकेंगे ।

UP Dhan Registration

अब अपनी धन की फसल बेचने के लिए उन्हें  किसी प्रकार परेशानी नहीं होगी और ना ही कही   जाने की आवश्यकता पड़ेगी। इसके लिए अब उन्हें  केवल इस योजना के लिए पोर्टल पर पंजीकरण करवाना होगा।  अधिक जानकारी के लिए आप  इस लेख को पढ़ सकते हैं। साथ ही हम आपको इस योजना के लाभ हेतु आधिकारिक पोर्टल पर पंजीकरण करवाने की पूरी प्रक्रिया भी विस्तार से बताएंगे। आवेदन के  समय पर जिन  सभी आवश्यक दस्तावेज़ों की ज़रूरत पड़ती है  उनकी सूची भी हम आपको इस लेख  में उपलब्ध कराएंगे।  योजना से जुडी जानकारी प्राप्त करने के लिए इस  लेख को अंत तक  अवश्य पढ़े।

धान खरीद पंजीकरण 2021

इस योजना के  तहत वो  सभी किसान जो धान की बुवाई करेंगे या कर चुके हैं वो सभी किसान उत्तर प्रदेश सरकार की  खाद्य एवं रसद विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर जा कर अपना  पंजीकरण करवा सकते हैं।  पोर्टल पर किसानो को अपना पंजीकरण करवाना जरुरी हैं तभी वो अपनी धान की फसल को  सरकार को बेच सकेंगे। जल्द ही न्यूनतम समर्थन मूल्य पर होने वाली धान की सरकारी खरीद की शुरुआत की तारीख से सम्बंधित जानकारी जल्द ही पता चल जाएगी । इस से सम्बंधित क्रय नीति को तय करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य का निर्णय करने के लिए कैबिनेट बाय सर्क्युलेशन्स से मंजूरी मिलना आवश्यक होता है ।

Sewayojan UP

IGRSUP 

उत्तर प्रदेश पेंशन योजना SSPY UP

उत्तर प्रदेश विवाह अनुदान योजना

UP Free Laptop Yojana

उद्यम सारथी मोबाइल

मुख्यमंत्री अभ्युदय योजना

Mukhyamantri Abhyudaya Yojana

UPBOCW श्रमिक पंजीयन कार्ड

इस योजना के  अंतर्गत अनेक क्रय केंद्रों की स्थापना की जाएगी। UP Dhan Kharid Registration के  तहत हुई सरकारी खरीद का मूल्य किसानो के बैंक खाते में  सीधे भेजा जाएगा। ये आवश्यक होगा की सभी किसानों का आधार कार्ड भी पंजीकृत किया गया हो।

Highlights of UP Dhan Registration

योजना का नामUP Dhan Panjikaran
Category उत्तर प्रदेश सरकार योजनाएं 
सम्बंधित विभागखाद्य एवं रसद विभाग , उत्तर प्रदेश
लाभार्थीप्रदेश के सभी किसान
आवेदन का मोडऑनलाइन आवेदन
आधिकारिक वेबसाइटई-क्रय प्रणाली (up.gov.in)

 

किसान पंजीकरण से सम्बंधित कुछ आवश्यक जानकारी

उत्तर प्रदेश धान खरीद पंजीकरण से सम्बंधित कुछ आवश्यक जानकारी  निम्नलिखित  हैं  आवेदन पूर्व आप इन्हे पढ़ लें।

  • इस योजना में पंजीकरण करते समय आपको 6  चरणों में इस प्रक्रिया को पूरी करना होगा।
  •  सर्वप्रथम आपको  पंजीकरण का प्रारूप डाउनलोड करना होगा।  फिर  उसका प्रिंट निकलकर उसमे सभी जानकारी भर सकते हैं।
  • आपको  पंजीकरण के समय धान की फसल के लिए  उपयोग की जाने वाली  सभी भूमि का विवरण  देना अनिवार्य है  ।
  • भूमि विवरण में आप को साथ में खतौनी/खाता संख्या, प्लाट/खसरा संख्या, भूमि का रकबा (हेक्टेयर में) एवं फसल (धान) का रकबा (हेक्टेयर में) आदि के बारे में भी जानकारी देनी होगी। यह जानकारी देना अनिवार्य है।
  •  कृपया अपना आधार  नंबर भरना न भूलें।
  • पंजीकरण प्रपत्र में आपको ऑनलाइन आवेदन  करना होगा।  उसके बाद कृपया अपना पंजीकरण  नंबर  को भविष्य के लिए सुरक्षित कर लें।
    Dhan Panjikaran
  • अगले चरण में आप को पंजीकरण ड्राफ्ट  से ड्राफ्ट आवेदन पत्र का प्रिंटआउट  निकलना होगा ।
  • अगर कभी आप को भविष्य में आपको फिर से ड्राफ्ट की आवश्यकता  पड़ती है तो आप  पंजीकरण संख्या और मोबाइल नंबर देकर इसे आसानी से निकाल सकते हैं।
  • अगर आप द्वारा दी गयी कोई भी जानकारी में अगर आपको इसमें  संशोधन करने की आवश्यकता हो तो आप इसके लिए चौथे चरण में “पंजीकरण संशोधन ” कर सकते हैं।  यहाँ पर  अब आपको अपना  पंजीकरण संख्या एवं अपना रजिस्टर्ड नंबर यहाँ दर्ज़ करना होगा जिसके   मदद से आप आसानी से संशोधन कर  सकते ।
  • चरण 5 में पंजीकरण लॉक के  ऑप्शन पर आना होगा।   सभी जानकारी ठीक करने के  पश्चात आप ये जानकारी लॉक कर सकते हैं ,  एक बार लॉक होने के  पश्चात आप इसमें कोई सुधार नहीं कर सकते।
  •  अंतिम चरण में आप प्रपत्र को डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अगर आप आवेदन लॉक नहीं करते हैं तो आपका आवेदन स्वीकार्य नहीं  किया जाएगा ।

आवश्यक दस्तावेज़

इस योजना  में आवेदन  करने के लिए आप को कुछ दस्तावेज़ों की आवश्यकता पड़ेगी। सभी आवश्यक दस्तावेज़ों की सूची निम्नलिखत  हैं।  आवेदन करने से पहले कृपया  एक बार इन्हे अवश्य जांच लें।

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • जोतबही / खाता नम्बर अंकित कमप्यूटराइज़्ड खतौनी।
  • बैंक पासबुक  फोटोकॉपी  (जिसमे खाता धारक का विवरण अंकित हो)
  • एक नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो
  • पहचान पत्र

धान पंजीकरण/आवेदन की प्रक्रिया

अगर आप भी सरकार द्वारा चलाई जा रही  इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इसके लिए योजना के आधिकारिक वेबसाइट  पोर्टल पर आपको पंजीकरण करना होगा।   इस योजना में  पंजीकरण करने की पूरी प्रक्रिया निम्नलिखित हैं।

  1.  पहले आपको सरकार की  खाद्य एवं रसद विभाग के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा । अब  आपके सामने होम पेज खुल जाएगा।
  2. यहाँ  पर आप देख सकते हैं की आप को ये आवेदन पत्र कुल 6 चरणों में पूरा  करना होगा।
    UP Dhan Kharid Registration
  3.  प्रथम चरण में :   वेबसाइट के होम पेज पर दिए गए   पंजीकरण प्रारूप पर क्लिक  करना हैं ।
  4. अब आपके सामने पंजीकरण के लिए प्रपत्र का प्रारूप खुल जाएगा। आप चाहे तो  इसे डाउनलोड करके आप इसे समझ सकते हैं ।
  5. दूसरे   चरण में आप पंजीकरण प्रपत्र पर क्लिक करेंगे। यहाँ पर  आपको अपना  मोबाइल नंबर और दिए गए कैप्चा कोड को  दर्ज़ करना है। इसके बाद आगे बढ़ें के विकल्प पर क्लिक कर दें।
  6.  अब  आपके सामने एक नया  फॉर्म खुल जाएगा।  कृपया इसे ध्यान पूर्वक पढ़कर  सभी पूछी गयी जानकारी को सही प्रकार से भर दे।
  7. तीसरे  चरण में आप अपनी भरी गयी सभी जानकारी को एक बार  सही से जांच कर ले।
  8. चौथे  चरण में आपको अगर अपने द्वारा  आवेदन पत्र पर किसी प्रकार की कोई त्रुटि रह गयी हो तो आप यहाँ पर  उसमें संशोधन कर सकते हैं।
  9.  चरण 5  में आप को अपनी  पंजीकृत  जानकारी को लॉक करना  हैं ।  बिना लॉक के पंजीकरण मान्य नहीं माना जाएगा ।
  10. अब आप इसका प्रिंट आउट निकाल लें। फिर इसके बाद आप पजीकरण  नंबर नोट कर लें।
  11. अगले  चरण में आप  किसान आईडी और मोबाइल नंबर के बाद कैप्चा कोड दर्ज़ करके आप अपना टोकन प्राप्त कर सकते हैं।
  12. इस  प्रकार से आपकी प्रक्रिया पूरी होती है।

हेल्पलाइन नंबर

हमने अपने इस  लेख में UP Dhan Registration से सम्बंधित सभी जानकारी देने के प्रयास किया है। अगर आप कुछ और भी जानकारी चाहते हैं या किसी प्रकार की समस्या है जिसका आप समाधान चाहते हैं  तो आप हमे नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते हैं। हम आपकी समस्या तथा प्रश्नों का उत्तर अवश्य देने का प्रयास करेंगे। इसके  अलावा अगर आप चाहें तो निचे दिए गए  हेल्पलाइन नंबर्स पर संपर्क कर  सकते है –

  • हेल्पलाइन नंबर : 1800 000 150

इसके अलावा भी आप जनपद के जिला खाद्य विपणन अधिकारी या फिर तहसील के क्षेत्रीय विपणन अधिकारी  अथवा ब्लॉक के विपणन निरीक्षक से भी  संपर्क कर सकते हैं। आप को वहां से  अपनी इच्छा के अनुसार जानकारी और आप की समस्या का निवारण मिल जाएगा।

UP Dhan Panjikaran से  जुड़े प्रश्न – उत्तर

इस योजना के तहत अपना पंजीकरण कैसे करे  ?

इस योजना के तहत Dhan Panjikaran के लिए आपको उत्तर प्रदेश के  खाद्य एवं रसद विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर  होगा।  अधिक जानकारी के  लिए आप हमारे लेख को पढ़ सकते हैं।  जिसे पढ़कर आप आसानी से आवेदन कर सकते हैं।

UP Dhan Registration किस विभाग के अंतर्गत  है ?

यह  Dhan Panjikaran योजना उत्तर प्रदेश सरकार के खाद्य एवं रसद विभाग के  तहत आती हैं।

इस योजना की शुरुआत  करने के क्या उद्देश्य  है ?

इस योजना की शुरुआत किसानों के हित में की गयी है। इस योजना  में सरकार सभी किसानों से धान को उचित न्यूनतम मूल्य पर खरीदेगी। इसका उद्देश्य किसानों को आर्थिक रूप से  मजबूत करना  है।  इसके अलावा  उनके धान के न बिकने पर  या कम मूल्य पर बिकने से होने वाले नुक्सान की भी भरपाई हो जाएगी।

इस योजना  में पंजीकरण करने से क्या लाभ हैं ?

इस पोर्टल के माध्यम से आवेदन करने के बाद सभी किसान अपनी धान की फसल सरकार को आसानी से बेच पाएंगे। अब अपनी धन की फसल बेचने के लिए उन्हें  किसी प्रकार परेशानी उठाने के आवश्यकता  नहीं होगी  । इसके लिए अब उन्हें सिर्फ इस योजना के लिए पोर्टल पर जाकर अपना  पंजीकरण करवाना होगा।

आवेदन करने के लिए आवश्यकता दस्तावेज़ क्या है ?

आवेदन के लिए  आवेदक  के पास इन सभी दस्तावेजों का होना आवश्यक है : आधार कार्ड , जोतबही / खाता नम्बर अंकित computerized खतौनी, बैंक पासबुक की फोटोकॉपी  (जिसमे खाता धारक का विवरण अंकित हो), एक नवीनतम पासपोर्ट साइज फोटो ,पहचान पत्र।
 

UP Dhan Kharid Registration योजना क्या है ?

 इस योजना के  तहत वो  सभी किसान जो धान की बुवाई करेंगे या कर चुके हैं वो सभी किसान उत्तर प्रदेश सरकार की  खाद्य एवं रसद विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर जाकर अपना  पंजीकरण कर सकते हैं।  पोर्टल पर किसानो को अपना पंजीकरण करवाना  आवश्यक हैं तभी वो अपनी धान की फसल को  सरकार को बेच सकेंगे।  ।


Share

Leave a Comment